उत्तराखंड में पनबिजली परियोजनाओं पर रोक

HolyGanga

SwarajKhabar22Oct

कौशल किशोर [22.10.2013]

हिमालय में केदारखंड की त्रासदी के बाद हिन्द महासागर के निकटवर्ती प्रदेशों में तबाही  मंजर गंभीर खतरों के सन्देश हैं। समुद्र तट और हिमालय की वादियों में वायु और जल का कोप! विकास और विनाश की आबोहवा भी कैसी जटिल है।  उच्चतम न्यायलय ने इन बातो पर गौर किया है। पीछे श्रीनगर जलविद्युत परियोजना मसले की सुनवाई के दौरान विशेष रुप से इस हादसे का संज्ञान लिया। चोरबाड़ी की तबाही के चातुर्मास में न्यायालय ने उत्तराखंड में अल्प अवधि में तेजी से बढ़ती पनबिजली परियोजनाओं पर गंभीर चिंता व्यक्त किया है। कोर्ट ने केंद्र और राज्य की सरकारों को उत्तराखंड में नवीन जलविद्युत परियोजनाओं पर रोक लगाने का स्पष्ट निर्देश देकर मध्य जून की आपदा में हजारों लोगों की अकाल मृत्यु के प्रति संजीदगी दिखाई है। न्यायपालिका राजकाज को बेहतर और जनहितकारी बनाने के उद्देश्य से कुछ प्रभावी कदम उठाती रही है। भविष्य में यह निर्णय उसी कड़ी का अहम…

View original post 1,073 more words

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s